पथरी का इलाज Pathri Ka Ilaaj

पथरी का इलाज 

 

हमारे दिन की शुरुआत खाने से शुरू होती है और खाने पर ही ख़त्म लेकिन जो खाना हम खाते है उसमे से कुछ खाना पूरी तरह पच्च नहीं पाता जो इक्कठा होकर पथरी बन जाता है। इसके पीछे  पाचन तंत्र की विकृति मुख्य कारण है। पथरी के दर्द की शिकायत सबसे दर्दनाक होती है इसलिए इसे पेट के गंभीर रोगों में लिया जाता है  इससे होने वाले दर्द से बचने के लिए प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी प्रकार के घेरलू उपाय या अनेकों नुस्खो की खोज करता है क्यूंकि ये गुर्दे की पथरी, मूत्राशय, पित की पथरी व अनेकों रोगों में कारगर सिद्ध होते है आज के युग में मनुष्य बहुत ज्यादा व्यस्त होने के कारण स्वयं को समय नहीं दे पता, जिसका परिणाम उसको भुगतना पड़ता है। अगर नीचे दिए गये नुस्खों को आप अपना लें तो आप कुछ भी खाने-पीने के लिए स्वंत्रत हो सकते है। तो आइये जानते है पथरी को भागने के साधारण नुस्खे :-

पथरी के इलाज में असरदार नुस्खे :-

  1. सेब का रस पीते रहने से पथरी बनना बंद हो जाती हैं तथा गलकर मूत्र द्वारा बाहर आ जाती है

  2. आवले का चूर्ण मूली के साथ खाने से मूत्राशय कि पथरी में लाभ होता है

  3. आम के ताजे पत्ते छाया में सुखाकर बारीक़ पिस ले और 6 ग्राम नियत बासी पानी के साथ प्रात: खाएं

  4. 30-50 मी.ली. चुकंदर का रस दिन में चार बार पिने से पथरी गल जाती है

  5. नारियल का पानी पीते रहने से पथरी के दर्द में राहत मिलती है। कुछ ही दिनों में चेहरे पर गोरापन चाहिए तो पढ़िए >>>चेहरे के ब्यूटी टिप्स 

  6. अखरोट को साबुत कूटकर (छिलके और गिरी सहित ) एक चम्मच सुबह शाम लेने से (ठन्डे पानी के साथ ) पथरी ठीक हो जाती है

  7. जामुन कि गुठली का चूर्ण दही के साथ खाने से पथरी आसानी से गल जाती है

  8. गुर्दे कि पथरी में मुक्ति पाने के लिए काजू को दूध के साथ पीसकर उस द्रव्य को दिन में 3-4 बार सेवन करें अवश्य लाभ होगा

  9. सूखे आवले को पीसकर उसे मूली पर लगाएं और चबा-चबाकर खाएं । यदि सवेरे खाली पेट ही यह प्रयोग करें, तो शीघ्र पथरी बहार निकल आएगीशहद से होने वाले फायदे आपको हैरान कर देंगे >>>>>

  10. नीम के पत्तों कि राख 6 ग्राम ठन्डे पानी से 3 बार प्रतिदिन फांके । कुछ ही दिनों मूत्राशय कि पथरी निकल जाएगी Follow Us On Thanks Bharat On Youtube Channel

  11. (नीम के पत्तों कि राख बनाने कि विधि :- नीम के पत्तों में छाया में सुखाकर बर्तन में जलाएं, जल जाने पर बर्तन का मुंह ढक दें | चार  घंटे बाद पत्तीयों को निकालकर  पिस लें यह नीम कि राख है।

  12. 3-4 नग बादाम को चबा-चबाकर खाने से एक महीने में ही पथरी से आराम मिलता है | यदि दर्द ज्यादा होता हो अथवा पेशाब में  अवरोध हो तो रात को बादाम भिगोकर गुलाब के ताजे फूलों के साथ पीसकर ठन्डे दूध के साथ सेवन करें ।

  13. पथरी कैसी भी हो, नियमित रूप से करेले का रस छाछ के साथ के साथ पिएं । इस प्रयोग को तब तक जारी रखें, जब तक कि पथरी  गल कर बाहर न निकल जाये । www.vedicpress.com

पथरी से दूरी कैसे बनाये :-

  1. नियमित योगाभ्यास करें । यागाभ्यास करते रहने से भूख कम लगती है जिससे आपका शारीरिक संतुलन बना रहता है। इससे पथरी होने  के आसार ख़त्म हो जाते है ।   www.vedicpress.com

  2. एक समय पर एक ही सब्जी का प्रयोग करें ।

  3. बीज वाली चीजों का सेवन कम मात्रा में करें ।

  4. टमाटर, अमरुद आदि का सेवन अलग से न करें ।

  5. जूस का प्रयोग करें ।

  6. दिन में कम-से-कम 3-4 ली. पानी का सेवन करें । www.vedicpress.com

  7. शरीर को क्रियात्मक रूप से काम में लें ।

Hernia Treatment on at Home

पथरी के इलाज के लिए आप को किसी डॉक्टर की जरुरत नहीं होती बल्कि उपरोक्त नुस्खे अपनाकर आप घर पर ही पथरी का इलाज कर सकते है  आप उपरोक्त नुस्खों का प्रयोग करेंगें तो आप पथरी जैसी दर्दनाक बीमारी से बच सकते है

आलस्य को त्याग दें और कर्म को अपनावे ।

  • वैदिक धर्मी

Follow us on Thanks Bharat on Youtube Channel