Category: Ancient Indian Science

composition of water

Composition of water in Rig Veda by Pt. Gurudatta

Rig Veda in Composition of water Composition of Water मित्रं हुवे पूतदक्षं वरुणां च रिषाद्सम्  धियं घृताचीं साधन्ता || ऋ०|१|२|७|| The word rig signifies the expression of the nature, properties and actions and re-actions produced...

वेदों की संख्या

वेदों की संख्या कितनी है और रचना किसने की प्रमाण सहित ?

 वेदों की संख्या और रचना किसने व कैसे की प्रमाण सहित वेदों की संख्या 1. क्या प्रारंभ में एक ही वेद था जो बाद में चार भागों में बाँट दिया गया ? वास्तव में मानव...

वेद

वेद, वेदांग, शाखाएं क्या है और इनका हिन्दू धर्म में क्या महत्व है ?

वेद,वेदांग,शाखाएं क्या है और कौन-कौन सी है ? वेद क्या है ? मंत्र सहिताओं का नाम वेद है । इनको श्रुति भी कहते है । वेद शब्द संस्कृत के विद धातु से बना है जिसका...

Spiritual Discipline

Spiritual Discipline in the Vedas

Spiritual Disciplines in the Atharva veda, Yajur veda & Rig veda   Spiritual Discipline 1.   A Brahamchari, a spiritually disciplined man of divine wisdom, Performs deeds strengthening both the worlds, All the divine powers actively...

अतिवृष्टि

अतिवृष्टि को यज्ञ द्वारा कैसे रोका जा सकता है ?

यज्ञ –अतिवृष्टि रोधक अतिवृष्टि से यज्ञ द्वारा कैसे निजात पाएं :- अनावृष्टि की भांति अतिवृष्टि भी भयंकर समस्या खड़ी कर देती है । इसके कारण दैनिक कार्य करने भी कठिन हो जाते है । नदियों...

यज्ञ

यज्ञ का वेदों में क्या महत्व है और इसका लाभ क्या है ?

वेदों में यज्ञ की महिमा यज्ञ पर वेदों में अनेक जगह इसके के महत्व पर प्रकाश डाला है जिन्हें अर्थ सहित उद्धत किया गया हैं ।   ते वो ह्रदे मनसे सन्तु यज्ञा: । ऋग्वेद...

atmosphere

Atmosphere of Earth by Pandit Gurudutta Vidyarthi M.A.

Layer of Atmosphere वायवायाहि दर्शतेमे सोमा अरंकृता: | तेषां पाहि श्रुधि हवम्  ||ऋ० १|२|१|| Atmosphere There is nothing which so beautifully illustrates the bounteous dispensation or providence in Nature, as the atmosphere, which surrounds our...

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार का वैज्ञानिक महत्व और प्रसिद्द लोगो के अनुभव

सूर्य नमस्कार का वैज्ञानिक स्वरूप सूर्य नमस्कार संसार में प्रचलित व्यायामों में सर्वश्रेष्ठ और सबके करने योग्य पूर्ण वैज्ञानिक व्यायाम ‘सूर्य नमस्कार’ हैं। इसे बालक-वृद्ध, स्त्री-पुरुष सभी कर सकते हैं । आयुर्वेद तो अपने जन्मकाल...

1 जनवरी नववर्ष का इतिहास Vs वैदिक नववर्ष

1 जनवरी का सम्पूर्ण इतिहास कब, क्यों व कैसे मनाएं नववर्ष 1 जनवरी आज का लेख नए वर्ष की बधाई के साथ-साथ 1 जनवरी का पूरा इतिहास खोल कर रख देगा। सृष्टि को बनाये कितने...

आर्य समाज

आर्य समाज से विश्व गुरु आर्यावर्त्त की ओर अग्रसर कैसे ?

आर्य समाज के बारे में भिन्न-भिन्न धारणाएं आर्यसमाज के विषय में आज लोगों में भिन्न-भिन्न प्रकार की भ्रान्तिया है। कुछ लोगों का मानना है की आर्यसमाज नास्तिक संगठन है जो ईश्वर को नहीं मानते । मूर्ति-पूजा ...