Category: धर्म/Religion

Sandhya Vidhi

Vedic sandhya vidhi सम्पूर्ण वैदिक संध्या

Sandhya Vidhi (संस्कृत अनुवाद) प्रथम शरीर शिद्धि अर्थात स्नान पर्यन्त कर्म करके संध्योपासना का आरंभ करें। आरम्भ में हस्त में जल लेके-sandhya vidhi  ओम अमृतोपस्तरणमसि स्वाहा।।१।। www.vedicpress.com san dhya vidhi ओम अमृतापिधानमसि स्वाहा।।२।। sandhya vidhi  ओम सत्यं यश: श्रीर्मयि श्री: श्रयतां स्वाहा ।।३।।...

हवन की विधि

हवन की विधि किन मंत्रो से करें सम्पूर्ण अग्निहोत्र/हवन

हवन की विधि :- कैसे करें हवन हवन की विधि जो आर्य प्रतिदिन यज्ञ करते है, उनके लिए महर्षि ने संस्कारविधि में दैनिक अग्निहोत्र विधि इस प्रकार लिखी है आचमन मंत्र ओं शन्नो देवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये ।                     शंयोरभिस्त्रवन्तु...

1 जनवरी नववर्ष का इतिहास Vs वैदिक नववर्ष

1 जनवरी का सम्पूर्ण इतिहास कब, क्यों व कैसे मनाएं नववर्ष 1 जनवरी आज का लेख नए वर्ष की बधाई के साथ-साथ 1 जनवरी का पूरा इतिहास खोल कर रख देगा। सृष्टि को बनाये कितने वर्ष हुए है  जैसा कि...

विदुर नीति

विदुर नीति (Vidur Niti) प्रमुख श्लोक एवं उनकी व्याख्या

विदुर नीति श्लोक हिंदी अनुवाद :- विदुर नीति :- द्वा:स्थं प्राह: महाप्राज्ञो महीपति: । विदुरं द्रष्टुमिच्छामि तमिहानय मा चिरम् ।। महाराज घृतराष्ट्र ने द्वारपाल से कहा कि मैं महात्मा विदुर को देखना चाहता हूँ अर्थात् मिलना चाहता हूँ, उसे यहाँ...

चाणक्य नीति हिंदी

चाणक्य नीति हिंदी (Chanakya Niti Shloka) भाग-7, 121 से 149

चाणक्य नीति हिंदी अनुवाद में पढ़े चाणक्य नीति हिंदी आत्माऽपराधवृक्षस्य फ़लान्येतानि देहिनाम् । दारिद्यरोगदु:खानि बन्धनव्यसनानि च ।। दरिद्रता, रोग, दुःख और बंधन तथा व्यसन आदि- ये सब मनुष्य के अधर्म रूपी वृक्ष अर्थात् शरीर के फल है।(चाणक्य नीति हिंदी  श्लोक...

chanakya neeti

Chanakya Neeti Shloka(चाणक्य नीति श्लोक) भाग-6, 101 से 120

Chanakya Neeti (चाणक्य नीति ) :- हिंदी अनुवाद Chanakya Neeti अनित्यानि शरीराणि विभवो नैव शाश्वत: । नित्यं सन्निहितो मृत्यु: कर्त्तव्यो धर्मसंग्रह: ।। यह शरीर नाशवान है, धन संपत्ति भी चलायमान हैं, मृत्यु सैदव निकट रहती है, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को...

Chanakya Niti Shloka

Chanakya Niti Shloka( चाणक्य नीति श्लोक) हिंदी अनुवाद :- भाग-5 :- 81 से 100

Chanakya Niti Shloka (चाणक्य नीति श्लोक):- हिंदी व्याख्या Chanakya Niti Shloka :- 81. हस्तीस्थूलतनु: स चाड़्कुशवश: किं हस्तिमात्रोड़्कुशो दीपे प्रज्वलिते प्रणश्यति तम: किं दीपमात्रं तम: । वज्रेणापि हता: पतन्ति गिरय: किं वज्रमात्रो गिरिस् तेजो यस्य विराजते स बलवान स्थूलेषु क:...

chanakya niti sloka

Chanakya Niti Sloka(चाणक्य नीति श्लोक) भाग-4; 61 से 80

Chanakya Niti Sloka  (चाणक्य नीति श्लोक):- हिंदी व्याख्या Chanakya Niti Sloka 61.  शुचिर्भूमिगतं तोयं शुद्धा नारी पतिव्रता । शुचि: क्षेमकरो राजा संतोषि ब्राह्मण: शुचि: ।। पृथ्वी के भीतर से निकलने वाला पानी पवित्र होता है। पतिव्रता नारी पवित्र होती है।...

चाणक्य नीति श्लोक

चाणक्य नीति श्लोक(Chanakya Niti ) भाग-3; हिंदी व्याख्या 41 से 60

चाणक्य नीति श्लोक (Chanakya Niti Shlok):- हिन्दी व्याख्या चाणक्य नीति श्लोक – 41.     बाहुवीर्यं बलं राज्ञो बब्राह्मणो ब्रह्मविद् बली । रुपयौवनमाधुर्यं स्त्रीणां बलमुत्तमम् ।। राजा की शक्ति उसकी भुजाओं में, विद्वान का बल उसके ज्ञान में और स्त्रियों का बल...

चाणक्य नीति

Chanakya Niti, चाणक्य नीति: भाग-2; हिंदी व्याख्या 21 से 40 श्लोक

चाणक्य नीति (chanakya niti):   (हिंदी व्याख्या सहित) 21.    जनिता चोपनेता च यस्तु विद्यां प्रयच्छति | अन्नदाता भयत्राता पञ्चैते पितर: स्मृता: || जन्म देने वाला पिता, यज्ञोपवित कराने वाला गुरु, विद्या देने वाला अध्यापक, अन्न देने वाले और भय से...