Author: vedicpress

हवन की विधि

हवन की विधि किन मंत्रो से करें सम्पूर्ण अग्निहोत्र/हवन

हवन की विधि :- कैसे करें हवन हवन की विधि जो आर्य प्रतिदिन यज्ञ करते है, उनके लिए महर्षि ने संस्कारविधि में दैनिक अग्निहोत्र विधि इस प्रकार लिखी है आचमन मंत्र ओं शन्नो देवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये ।                     शंयोरभिस्त्रवन्तु...

1 जनवरी नववर्ष का इतिहास Vs वैदिक नववर्ष

1 जनवरी का सम्पूर्ण इतिहास कब, क्यों व कैसे मनाएं नववर्ष 1 जनवरी आज का लेख नए वर्ष की बधाई के साथ-साथ 1 जनवरी का पूरा इतिहास खोल कर रख देगा। सृष्टि को बनाये कितने वर्ष हुए है  जैसा कि...

विदुर नीति

विदुर नीति (Vidur Niti) प्रमुख श्लोक एवं उनकी व्याख्या

विदुर नीति श्लोक हिंदी अनुवाद :- विदुर नीति :- द्वा:स्थं प्राह: महाप्राज्ञो महीपति: । विदुरं द्रष्टुमिच्छामि तमिहानय मा चिरम् ।। महाराज घृतराष्ट्र ने द्वारपाल से कहा कि मैं महात्मा विदुर को देखना चाहता हूँ अर्थात् मिलना चाहता हूँ, उसे यहाँ...

बच्चों की देखभाल कैसे करे ताकि शारीरिक और मानसिक विकास न रुके

बच्चो की देखभाल कैसे करे ताकि वे शारीरिक और मानसिक रोगी न बने बच्चों की देखभाल कैसे करे जो बच्चा जितना अधिक स्वस्थ होता है वह उतना ही सुन्दर व आकर्षक लगता है और उसकी लम्बाई भी उम्र के साथ...

चाणक्य नीति हिंदी

चाणक्य नीति हिंदी (Chanakya Niti Shloka) भाग-7, 121 से 149

चाणक्य नीति हिंदी अनुवाद में पढ़े चाणक्य नीति हिंदी आत्माऽपराधवृक्षस्य फ़लान्येतानि देहिनाम् । दारिद्यरोगदु:खानि बन्धनव्यसनानि च ।। दरिद्रता, रोग, दुःख और बंधन तथा व्यसन आदि- ये सब मनुष्य के अधर्म रूपी वृक्ष अर्थात् शरीर के फल है।(चाणक्य नीति हिंदी  श्लोक...

खांसी

खासी के कारण, प्रकार और खासी का रामबाण इलाज

खासी के कारण, प्रकार और उपाय खासी एक भयानक रोग है। अगर खासी का समय रहते इलाज नही हो पाता तो यह भयंकर रोग बन जाता है। बहुत कड़े परहेज करने पर पुरानी खासी में आराम मिलता है। खाँसी एक...

chanakya neeti

Chanakya Neeti Shloka(चाणक्य नीति श्लोक) भाग-6, 101 से 120

Chanakya Neeti (चाणक्य नीति ) :- हिंदी अनुवाद Chanakya Neeti अनित्यानि शरीराणि विभवो नैव शाश्वत: । नित्यं सन्निहितो मृत्यु: कर्त्तव्यो धर्मसंग्रह: ।। यह शरीर नाशवान है, धन संपत्ति भी चलायमान हैं, मृत्यु सैदव निकट रहती है, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को...

मन्दाग्नि

मन्दाग्नि रोग का कुछ ही मिनटों में रामबाण इलाज

मन्दाग्नि का रामबाण इलाज मन्दाग्नि का अर्थ है- परिपाक-शक्ति का कमजोर होना । जिन-जिन कारणों से खाया हुआ भोजन पाक होता है, उन-उन कारणों में गड़बड़ी पैदा हो जाती है, जिससे भोजन का अच्छा परिपाक नहीं होता। इसी का नाम...

Chanakya Niti Shloka

Chanakya Niti Shloka( चाणक्य नीति श्लोक) हिंदी अनुवाद :- भाग-5 :- 81 से 100

Chanakya Niti Shloka (चाणक्य नीति श्लोक):- हिंदी व्याख्या Chanakya Niti Shloka :- 81. हस्तीस्थूलतनु: स चाड़्कुशवश: किं हस्तिमात्रोड़्कुशो दीपे प्रज्वलिते प्रणश्यति तम: किं दीपमात्रं तम: । वज्रेणापि हता: पतन्ति गिरय: किं वज्रमात्रो गिरिस् तेजो यस्य विराजते स बलवान स्थूलेषु क:...

chanakya niti sloka

Chanakya Niti Sloka(चाणक्य नीति श्लोक) भाग-4; 61 से 80

Chanakya Niti Sloka  (चाणक्य नीति श्लोक):- हिंदी व्याख्या Chanakya Niti Sloka 61.  शुचिर्भूमिगतं तोयं शुद्धा नारी पतिव्रता । शुचि: क्षेमकरो राजा संतोषि ब्राह्मण: शुचि: ।। पृथ्वी के भीतर से निकलने वाला पानी पवित्र होता है। पतिव्रता नारी पवित्र होती है।...