Category: Freedom Fighter Of India

अशफाक़ उल्ला खां

कट्टर मुसलमान अशफाक़ उल्ला खां एक कट्टर क्रांतिकारी कैसे बना

महान क्रांतिकारी अशफाक़ उल्ला खां का आदर्श जीवन अशफाक़ उल्ला खां का जन्म 22 अक्टूबर 19,00 में उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर स्थित  शाहिदपुर में हुआ |उनके पिता मोहम्मद शफीक अल्ला खान था और उनकी माता का...

चापेकर बंधु

चापेकर बंधु (तीन सगे भाई ) जिन्होंने अंग्रेजों से लोहा मनवाया

तीन सगे भाई चापेकर बंधु का साहस चापेकर बंधु ‘दामोदर हरी चापेकर, बालकृष्ण हरी चापेकर, तथा वासुदेव हरी चापेकर’ तीनों भाइयों को कहा जाता था। चापेकर बंधु तिलक जी को गुरुवत सम्मान देते थे। चापेकर...

भगत सिंह का नामकरण

भगत सिंह का नामकरण बिना किसी पंडित के हुआ था ?

 भगत सिंह का नामकरण  भगत सिंह का नामकरण –      27 सितम्बर, 1907 : दिन शनिवार : पंजाब के लायलपुर जिले का बंगा गाँव : प्रात: लगभग 9 बजे ।  बंद  कमरे में दर्द से...

महर्षि दयानन्द को जहर क्यो दिया

Maharishi Dayanand Saraswati का मृत्यु रहस्य

Maharishi Dayanand Saraswati (महर्षि दयानन्द सरस्वती) विष प्रकरण Maharishi Dayanand Saraswati:-  पूरी एक शताब्दी बीत जाने के बाद श्री ओकारसिंह Okarsingh  ने राजस्थान पत्रिका के 7 फरवरी 1984 के अंक पृष्ट संख्या 5 पर एक...

चित्तौड़ का इतिहास

चित्तौड़ की रानी वीरा का निर्भीक आक्रमण

चित्तौड़ की रानी वीरा की निर्भीक विजय  चित्तौड़ :- कभी-कभी परिस्थितियां ऐसा मोड़ लेती हैं कि पुरुष से अपनी रक्षा करनी पड़ती है। ऐसे घटनाएं हमें यह पाठ पढ़ाती हैं कि नारी अबला नहीं, सबला...

सुखदेव थापर

सुखदेव थापर की अनकही कहानी

क्रान्तिकारी सुखदेव  श्री सुखदेव खास लायलपुर (पंजाब) के रहने वाले थे। आपका जन्म तिथि फ़ाल्गुन् सुदि 6 संवत 1964 को दिन के पौने ग्यारह बजे हुआ था। आपके पिता का देहांत आपके जन्म से तीन...

राम प्रसाद बिस्मिल की भविष्यवाणी आज सच साबित हुई

अमर बलिदानी राम प्रसाद बिस्मिल के आत्म कथा के कुछ अंश जो आज भी सच है मैं इस समय इस परिणाम पर पहुंचा हूं कि यदि हम लोगों ने प्राणपण से जनता को शिक्षित बनाने...

भगतसिंह 9 अप्रैल 1929 का पूरा सच

*इतिहास के गंभीर विद्यार्थी* भगतसिंह व बटुकेश्वर भारतीय इतिहास में परतंत्रता के समय जब अंग्रेजी हकुमत की केंद्रीय विधान सभा में 9 अप्रैल 1929 को *”ट्रेड डिस्ट्रिब्युट”* इस बिल पर पड़ने वाले मतों पर निर्णय...

Nathuram Godse Last Speech

Nathuram Godse Last Speech गाँधी वध क्यों ?

Nathuram Godse Last Speech आप माने या न माने, किन्तु मूलतः मैं निर्दयी वृत्ति का मनुष्य नहीं हूँ । सहृदयता के और सर्व-साधारण सौजन्य के धागों से ही मेरा स्वभाव बना है । मेरे मित्र...

जलियांवाला बाग हत्याकांड

जलियांवाला बाग हत्याकांड इतिहास Jallianwala bagh history

जलियांवाला बाग हत्याकांड की हृदयविदारक घटना  जलियांवाला बाग हत्याकांड भारत के इतिहास (history of india) की सबसे क्रूरतम घटना है । 13 अप्रैल, 1919 बैसाखी के दिन 20 हजार भारत के वीरपुत्रों ने अमृतसर के...

हांसी-हिसार का इतिहास

हांसी-हिसार का अमर बलिदानी – वीर हुकमचन्द

हांसी-हिसार का अमर बलिदानी हुकमचन्द 1857 kranti in hindi (हांसी-हिसार में जिसको घर के सामने ही फाँसी पर लटका दिया) हांसी-हिसार में 1857 की महान क्रांति ने भारत के कोने-कोने में उथल-पुथल मचा दी थी। अनेक...