विदेश में Hawan, स्वदेश में Bhajan

विदेशों में यज्ञशाला व Hawan

अग्निहोत्र किसी देश विशेष नहीं अपितु विश्व कल्याण का साधन है। इसलिए विदेशों में अग्निहोत्र (Hawan) का प्रचार प्रसार खूब हुआ है।

  1. चिली देश में एण्डीज पर्वत पर यज्ञशाला बनी हुई है।
  2. पश्चिमी जर्मनी में यज्ञ का व्यापक प्रचार प्रसार है।
  3. अमेरिका में वाशिगंटन में अग्निहोत्र विश्वविद्यालय कार्य कर रहा है।
  4. वर्जीनिया में पर्वतीय क्षेत्र में यज्ञशाला बनी है जहाँ प्रतिदिन यज्ञ होता है।
  5. पोलैंड में वैज्ञानिक यज्ञ कर्ताओं का एक केन्द्र है।

देश-विदेश में भी यज्ञ (Hawan) को बड़ा रूप दिया जा रहा है जो एक वैश्विक रूप में लेता जा रहा है। दिन-प्रतिदिन यज्ञ (Hawan) पर शोध हो रहे है यज्ञ से चिकित्सा कर कैंसर, हार्ट-अटैक, बवासीर, हर्निया, जैसी बड़ी-बड़ी बीमारियों को ठीक किया जा रहा है। यज्ञ (Hawan) से निकलने वाली रख से फसलों पर शोध किया जा रहा है।    www.vedicpress.com

ऋतुओं की संधि में व्याधियां पैदा होती है। अत: ऋतु संधियों में जो यज्ञ (Hawan) होते है वह भैषज यज्ञ कहलाते है। जैसे होली और दीपवाली पर होने वाले सार्वजानिक बड़े यज्ञ (Hawan)

You may also like...