vedic press omniscient's wisdom

संतोष

संतोष क्या होता है स्वामी दयानंद पर आधारित कहानियां

संतोष व्यक्ति को दृढ़ निश्चयी और बलवान बनाता है  सन्तोषादनुत्तमसुखलाभ: ।।३५।।  योग   तदन्तर (संतोषाद०) अर्थात् पूर्वोक्त संतोष से जो सुख मिलता है, वह सब से उत्तम है और उसी को मोक्ष सुख कहते है...

मदरसा

मदरसा हिन्दू ‘शाला’ का इस्लामी अनुवाद है

मदरसा मुस्लिम आक्रामकों द्वारा कब्जाई हुई हिन्दू इमारतें  मदरसा :- मध्यकालीन स्मारकों के खुले प्रांगण, वार्तालाप-कक्ष भाग यात्रियों को ‘मदरसे’ बता दिए जाते है। विचार करने की बात है कि मध्यकालीन इस्लामी शासन जे अंतर्गत,...

वैमानिक

वैमानिक शास्त्र में विमान से सम्बंधित चौकाने वाले रहस्य

वैमानिक शास्त्र एक दुर्लभ ग्रन्थ कैसे ? वर्तमान काल में कुछ समय पूर्व वैमानिक कला प्राय: लुप्त सी हो गयी थी । बाद में पाश्चात्य विद्वानों के वुद्धि विकास से विमान फिर इस संसार में...

चरक

चरक द्वारा लिखित “चरक संहिता” आज भी प्रख्यात क्यों है ?

महर्षि चरक द्वारा लिखित ‘चरक संहिता’ का उपयोग कैसे और क्यों ? चरक :- शताब्दियों से आयुर्वेद चिकित्साशास्त्र के आचार्य के रूप में प्रख्यात चरक के जन्म-समय, जन्म-स्थान आदि बातों के विषय में हमें कोई...

योग विज्ञान

योग विज्ञान मनुष्य जीवन में कितना प्रभावशाली है ?

योग विज्ञान का वैदिक आधार क्या ? योग विज्ञान का इतिहास अति प्राचीन हैं। वैदिक ऋषियों ने ब्रह्मविद्या के साथ ही योगविद्या का आविष्कार किया । कुछ विद्वानों की मान्यता है कि वैदिक मन्त्रों की...

नाटक

नाटक घरों में अश्लीलता परोसने का माध्यम कैसे बना ?

नाटक मनोरंजन नहीं बल्कि धर्म परिवर्तन और अश्लीलता फैलाने का मध्यम नाटकों में प्राय: ऐतिहासिक आश्रय को लेकर गद्य-पद्य रूप में संवादात्मक तथा जन मनोरंजन के लिए अभिनय प्रदर्शनार्थ रचना की गई हैं । कथानक...

जीसस

जीसस (God) का चौकाने वाला सम्पूर्ण लेखा-जोखा

जीसस नाम का कोई व्यक्ति नहीं था | जीसस सारा ईसाई धर्म एक व्यक्ति पर आधारित है । वह व्यक्ति कपोलकल्पित सिद्ध हिने पर ईसाई धर्म सारा निराधार बनता है । इस पर कुछ नासमझ...

स्त्री शिक्षा

स्त्री शिक्षा के मूल तत्व और इनकी आवश्यकता क्यों ?

सामाजिक दृष्टिकोण से स्त्री शिक्षा स्त्री शिक्षा :- हमें यह स्वीकार करना होगा कि विज्ञान और समाज चाहे जितने उन्नत हो जाएं और सामाजिक दृष्टि से स्त्रियों और पुरुषों के व्यवहार क्षेत्र तथा कार्य क्षेत्र...

परोपकारिणी सभा

परोपकारिणी सभा का गठन किसने और क्यों किया ?

 ऋषि दयानन्द सरस्वती ने सभा का गठन क्यों व कैसे किया ? परोपकारिणी सभा :- ऋषि दयानन्द की दूरदर्शिनी दृष्टि अब समीप आते हुए अंत को देख रही थी । मेरठ से चलते हुए ऋषि...

काव्य'

काव्य क्या है व इनमें किसका वर्णन किया गया है ?

काव्यों में क्या महत्वपूर्ण हैं ? काव्य संस्कृत के महाकाव्य प्रसिद्ध है। संस्कृत काव्यों जैसी रचना अन्य भाषाओं में नहीं पाई जाती । संस्कृत जैसा लालित्य ओर प्रसाद गुण अन्य भाषाओं में दिखलाई नहीं देता...