सत्संग

सत्संग से मनुष्य जीवन कैसे बदल सकता है ?

सत्संग का प्रभाव सत्संग पर एक सत्य घटना थोड़ी देर की अच्छी संगति भी क्या परिणाम उत्पन्न करती है, यह अमर शाहिद ‘आर्य मुसाफिर’ पण्डित लेखराम जी के जीवन से ज्ञात होता है । आर्य समाज के ये महान विद्वान्...

वेद भाष्य

वेद भाष्य कौन से है और किस भाष्यकार के उत्तम भाष्य है ?

वेदों के भाष्य किसने ठीक-ठीक लिखे है ? वेद भाष्य अति प्राचीन काल में पद-पाठ, शाखा, ब्राह्मण-ग्रन्थ, निघंटु और निरुक्त आदि वेदों के भाष्य के रूप में काम देते थे । परन्तु महाभारत कल के पश्चात ऋषि परम्परा प्राय: बंध...

सृष्टि निर्माण

सृष्टि के आरम्भ में ज्ञान और भाषा की उत्पत्ति क्यों और कैसे हुई ?

सृष्टि प्रवाह सृष्टि निर्माण संसार पर स्थूल दृष्टि डालने से ही यह पता चल जाता है कि सृष्टि में दो तत्वों=चेतन और जड़ का मेल है । ईश्वर और जीव । ईश्वर सृष्टि का निर्माता और निमित्त कारण है ।...

दोष'

दोष दूर करना – नैतिक शिक्षा पर आधारित कहानी

माता पिता और गुरुजन यह चाहते है कि उनके बालक का चरित्र सुंदर बने, इसलिए वे उनपर कई प्रकार के प्रतिबन्ध लगाते हैं । कभी वे कहते हैं कि अमुक-अमुक बालकों के साथ न खेलना, गाली न देना, बातों में...

माइक्रोवेव ओवन

माइक्रोवेव ओवन से कार जितना नुकसान हो रहा है कैसे ?

माइक्रोवेव ओवन कितना कारगर है ? माइक्रोवेव ओवन एक अध्ययन में दावा किया गया है कि पूरे यूरोप में माइक्रोवेव ओवन से जितने कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन हुआ है उतना ही कार्बन डाइऑक्साइड करीब 70 लाख कारों से निकलता है।...

ओउम्

ओउम् जाप से सभी समस्याओं का क्षण में समाधान

ओउम् की महत्ता ओउम् सर्वेवेदा: यत्पदमामनन्ति तपांसि सर्वाणि च यद्वन्ति । यदिच्छन्तो ब्रह्मचरुर्थ चरन्ति तत्ते पदं संग्रहेण ब्रवीम्योमित्येतत् ।। कठो. १/२/१५ कठोपनिषद के ऋषि यमाचार्य उपदेश करते है कि हे नचिकेता । जिस शब्द की सब वेद परमात्मा की प्राप्ति...

सत्य

सत्य बोलने वाले मनुष्यों को वेदों में क्या महत्व दिया गया है ?

सत्य का महत्व सत्य जो अधर्माचरण से रहित विद्या को ग्रहण करने की इच्छा वाले लोग उत्तम वाणी का प्रयोग करते हुए और सत्य धर्म का आचरण करते हुए सब की इच्छा को पूर्ण करते है, वे अति सत्कार करने...

शारीरिक शिक्षा

शारीरिक शिक्षा बच्चों के सर्वांगीण विकास में सहायक कैसे ?

शारीरिक शिक्षा के मूल तत्व शारीरिक शिक्षा “शरीरमाद्यं खलु धर्म साधनम्”- शरीर समस्त धर्म का साधन है । हमारी ज्ञान शक्ति, इच्छा शक्ति की भी अभिव्यक्ति का माध्यम शरीरी हैं । स्वस्थ काया में स्वस्थ मन निवास करता है ।...

bible

BIBLE ईश्वर प्रेरित ग्रन्थ है या नहीं तर्क की कसौटी पर

  क्या बाइबिल (Bible) ईश्वर प्रेरित ग्रन्थ हैं ? आखिर में, असली सवाल यह नहीं कि बाइबिल (Bible) एक ईश्वरीय ग्रन्थ है या नहीं, बल्कि यह है कि यदि पुस्तक सच्ची किताब है, तो इसको ईश्वर प्रेरित होने की आवश्यकता नहीं...

माता

माता-पिता का ऋण नहीं चुकाया जा सकता है ?

माता का ऋण संसार में किसी भी स्थान पर जाकर देखें तो ज्ञात होगा कि वे लोग किसी न किसी दैवी शक्ति का पूजन करते हैं  दुनिया में लोग ईश्वर को अनेक नामो से पूजते हैं । कोई ब्रह्मा, शिव,...