Category: Religious/History

स्त्री शिक्षा

स्त्री शिक्षा के मूल तत्व और इनकी आवश्यकता क्यों ?

सामाजिक दृष्टिकोण से स्त्री शिक्षा स्त्री शिक्षा :- हमें यह स्वीकार करना होगा कि विज्ञान और समाज चाहे जितने उन्नत हो जाएं और सामाजिक दृष्टि से स्त्रियों और पुरुषों के व्यवहार क्षेत्र तथा कार्य क्षेत्र...

कृष्णजी

कृष्णजी के विषय में महर्षि दयानन्द सरस्वती Vs भागवत

श्री कृष्णजी पर लगे मिथ्या आरोप व महर्षि दयानन्द कृष्णजी महर्षि के ह्रदय में श्री कृष्णजी के प्रति अत्यंत श्रद्धा और सम्मान का भाव विद्यमान था । वे उन्हें महाधार्मिक, महात्मा, आप्त पुरुष, धर्मात्मा, धर्मरक्षक,...

गोवध

गोवध अंग्रेजी शासनकाल से अब तक क्यों और कितना हुआ ?

अंग्रेजी शासनकाल से अब तक प्रतिवर्ष करोड़ों गायों को क्यों काटा जा रहा  ? गोवध:- मुस्लिम शासकों ने एक दो को छोड़कर प्राय: सब ही ने गोहत्या पर प्रतिबन्ध लगाया  परन्तु इस्लामी शासन की अन्य...

हिंदी बनी हिन्दुस्तानी

हिंदी भाषा कैसे हिन्दुस्तानी भाषा बनी सम्पूर्ण इतिहास

हिंदी बनी हिन्दुस्तानी (कैसे हिंदी भाषा को हिन्दुस्तानी भाषा का दर्जा मिला) हिंदी कैसे बनी हिन्दुस्तानी स्वामी दयानंद सरस्वती, वीर सावरकर, बंकिमचंद्र और तिलक से लेकर गांधी जी, राजा जी जैसे हमारे महान राष्ट्रोनन्यकों ने...

 नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र 

नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र अपने पिता के चरणों में

पण्डित नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र अपने माता-पिता के चरणों में नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र “आसिन्धु भारतवर्ष पूरी तरह से स्वतंत्र करने का मेरा ध्येय स्वप्न मेरे शरीर की मृत्यु से मारना आशाक्य है”    ...

उधम सिंह

उधम सिंह का संघर्षमयी जीवन और क्रांतिकारी परिचय

उधम सिंह एक क्रांतिकारी उधम सिंह जीवन परिचय :- महान क्रांतिकारी उधम सिंह का जन्म 26 दिसंबर 1899 को पंजाब की पटियाला रियासत के सुनाम नामक कस्बे में कम्बोज वंश में हुआ । उनमे पिता...

अशफाक़ उल्ला खां

कट्टर मुसलमान अशफाक़ उल्ला खां एक कट्टर क्रांतिकारी कैसे बना

महान क्रांतिकारी अशफाक़ उल्ला खां का आदर्श जीवन अशफाक़ उल्ला खां का जन्म 22 अक्टूबर 19,00 में उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर स्थित  शाहिदपुर में हुआ |उनके पिता मोहम्मद शफीक अल्ला खान था और उनकी माता का...

आर्य समाज

आर्य समाज से विश्व गुरु आर्यावर्त्त की ओर अग्रसर कैसे ?

आर्य समाज के बारे में भिन्न-भिन्न धारणाएं आर्यसमाज के विषय में आज लोगों में भिन्न-भिन्न प्रकार की भ्रान्तिया है। कुछ लोगों का मानना है की आर्यसमाज नास्तिक संगठन है जो ईश्वर को नहीं मानते । मूर्ति-पूजा ...

मोक्ष

मोक्ष प्राप्त करने का सबसे सरल और संभव तरीका क्या है ?

मोक्ष प्राप्ति  क्या है इसे कैसे प्राप्त करें स्वभाव से अल्पज्ञ जीवात्मा अविद्यावश प्रकृतिपाश अर्थात जन्म और मृत्यु के चक्र में फँसता है और कर्मानुसार विभिन्न योनियों  (शरीरों ) को धारण करता है। ईश्वर की...

सृष्टि

सृष्टि कब बनी तथ्य देखकर चौंक जायेंगे आप

सृष्टि उत्पत्ति से अब एक-एक दिन और काल  का पूर्ण निचोड़ मानव सृष्टि के साथ ही ईश्वर ने चार ऋषियों को वेद का ज्ञान दिया और तभी से यह संवत चला। चूँकि आर्य लोग आदि...

चापेकर बंधु

चापेकर बंधु (तीन सगे भाई ) जिन्होंने अंग्रेजों से लोहा मनवाया

तीन सगे भाई चापेकर बंधु का साहस चापेकर बंधु ‘दामोदर हरी चापेकर, बालकृष्ण हरी चापेकर, तथा वासुदेव हरी चापेकर’ तीनों भाइयों को कहा जाता था। चापेकर बंधु तिलक जी को गुरुवत सम्मान देते थे। चापेकर...

फांसी

फांसी का जन्म और विकास कब और कैसे हुआ ?

फांसी का सम्पूर्ण इतिहास फांसी देने के प्रथा कब से चली या कहना बहुत कठिन है। क्योंकि हर जगह जहाँ भी फांसी को हथियार बनाया गया वहां समय अलग-अलग था। फांसी का अर्थ है कि...