Tagged: नैतिक शिक्षा की कहानी

संतोष

संतोष क्या होता है स्वामी दयानंद पर आधारित कहानियां

संतोष व्यक्ति को दृढ़ निश्चयी और बलवान बनाता है  सन्तोषादनुत्तमसुखलाभ: ।।३५।।  योग   तदन्तर (संतोषाद०) अर्थात् पूर्वोक्त संतोष से जो सुख मिलता है, वह सब से उत्तम है और उसी को मोक्ष सुख कहते है...

चोर और राजा

चोर और राजा का प्रजा पर दुराचार

चोर और राजा की प्रमाणिकता का फल           महाराष्ट्र Maharastra  के संत, महात्मा एवं कवि नामदेव महाराज Naamdev Maharaj  एक बार घूमते  हुए किसी गावँ में पहुँचे। रात्रि का समय था। सामने...