नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र अपने पिता के चरणों में

पण्डित नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र अपने माता-पिता के चरणों में नाथूराम गोडसे अंतिम पत्र “आसिन्धु भारतवर्ष पूरी तरह से स्वतंत्र करने का मेरा ध्येय स्वप्न मेरे शरीर की मृत्यु से मारना आशाक्य है”    ...