उधम सिंह

उधम सिंह का संघर्षमयी जीवन और क्रांतिकारी परिचय

उधम सिंह एक क्रांतिकारी उधम सिंह जीवन परिचय :- महान क्रांतिकारी उधम सिंह का जन्म 26 दिसंबर 1899 को पंजाब की पटियाला रियासत के सुनाम नामक कस्बे में कम्बोज वंश में हुआ । उनमे पिता राहलसिंह रेलवे में गेटमैन थे।...

चाणक्य नीति श्लोक

चाणक्य नीति श्लोक(Chanakya Niti ) भाग-3; हिंदी व्याख्या 41 से 60

चाणक्य नीति श्लोक (Chanakya Niti Shlok):- हिन्दी व्याख्या चाणक्य नीति श्लोक – 41.     बाहुवीर्यं बलं राज्ञो बब्राह्मणो ब्रह्मविद् बली । रुपयौवनमाधुर्यं स्त्रीणां बलमुत्तमम् ।। राजा की शक्ति उसकी भुजाओं में, विद्वान का बल उसके ज्ञान में और स्त्रियों का बल...

चाणक्य नीति

Chanakya Niti, चाणक्य नीति: भाग-2; हिंदी व्याख्या 21 से 40 श्लोक

चाणक्य नीति (chanakya niti):   (हिंदी व्याख्या सहित) 21.    जनिता चोपनेता च यस्तु विद्यां प्रयच्छति | अन्नदाता भयत्राता पञ्चैते पितर: स्मृता: || जन्म देने वाला पिता, यज्ञोपवित कराने वाला गुरु, विद्या देने वाला अध्यापक, अन्न देने वाले और भय से...

बच्चों का पालन-पोषण कैसे करें

बच्चों का पालन-पोषण कैसे करें ताकि बच्चे निर्भीक/साहसी और वीर बने ??

बच्चों को पालन-पोषण कैसे करें ताकि बच्चे  शूरवीर बने   बच्चों का पालन-पोषण करें इस संस्कार और मर्यादा वाली परिपाटी हम भूल चुके है। आज हम अपने सभी संस्कारो को भूल चुके है। सिर्फ अंतिम संस्कार को छोड़कर। वह माता...

अशफाक़ उल्ला खां

कट्टर मुसलमान अशफाक़ उल्ला खां एक कट्टर क्रांतिकारी कैसे बना

महान क्रांतिकारी अशफाक़ उल्ला खां का आदर्श जीवन अशफाक़ उल्ला खां का जन्म 22 अक्टूबर 19,00 में उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर स्थित  शाहिदपुर में हुआ |उनके पिता मोहम्मद शफीक अल्ला खान था और उनकी माता का नाम मजहूरून्निशां बेगम था। उनके...

क्लेश

अगर इन 5 क्लेशों से बच गए तो मिलेगी सम्पूर्ण शांति

क्लेश योगदर्शन में पांच प्रकार के बताए हैं- अविद्या, अस्मिता, राग, द्वेष तथा अभिनिवेश । इनमे अविद्या ही बाकी चार क्लेशों की जननी है। अविद्या-चार प्रकार की है। एक-नित्य को अनित्य तथा अनित्य को नित्य मानना, शरीर तथा भोग के...

आर्य समाज

आर्य समाज से विश्व गुरु आर्यावर्त्त की ओर अग्रसर कैसे ?

आर्य समाज के बारे में भिन्न-भिन्न धारणाएं आर्यसमाज के विषय में आज लोगों में भिन्न-भिन्न प्रकार की भ्रान्तिया है। कुछ लोगों का मानना है की आर्यसमाज नास्तिक संगठन है जो ईश्वर को नहीं मानते । मूर्ति-पूजा  के विरुद्ध है ।  आर्य समाज...

मोक्ष

मोक्ष प्राप्त करने का सबसे सरल और संभव तरीका क्या है ?

मोक्ष प्राप्ति  क्या है इसे कैसे प्राप्त करें स्वभाव से अल्पज्ञ जीवात्मा अविद्यावश प्रकृतिपाश अर्थात जन्म और मृत्यु के चक्र में फँसता है और कर्मानुसार विभिन्न योनियों  (शरीरों ) को धारण करता है। ईश्वर की व्यवस्था में बंधा हुआ जीवन...

सृष्टि

सृष्टि कब बनी तथ्य देखकर चौंक जायेंगे आप

सृष्टि उत्पत्ति से अब एक-एक दिन और काल  का पूर्ण निचोड़ मानव सृष्टि के साथ ही ईश्वर ने चार ऋषियों को वेद का ज्ञान दिया और तभी से यह संवत चला। चूँकि आर्य लोग आदि मानव संसार के आदि आर्य...

चापेकर बंधु

चापेकर बंधु (तीन सगे भाई ) जिन्होंने अंग्रेजों से लोहा मनवाया

तीन सगे भाई चापेकर बंधु का साहस चापेकर बंधु ‘दामोदर हरी चापेकर, बालकृष्ण हरी चापेकर, तथा वासुदेव हरी चापेकर’ तीनों भाइयों को कहा जाता था। चापेकर बंधु तिलक जी को गुरुवत सम्मान देते थे। चापेकर बंधु महाराष्ट्र के पुणे के...